Tagged: satguru vachan

SSDN : Shri Vachan 41 to 50 0

SSDN : Shri Vachan 41 to 50

41. जैसे अन्धेरी कोठरी में हर समय ठोकर लगने का भय रहता है वैसे ही जिस व्यक्ति का हृदय अज्ञान के अन्धकार से पूर्ण हो उसे सत्य-पथ से भटकने का भय रहता है। इसलिए...